हैकरों का ब्राउज़र Tor Browser क्या है ? tor browser in Hindi

हेलो फ्रेंड्स स्वागत है आपका एथिकल हैकिंग के हिंदी टुटोरियल में, जहां पर आप को मिलती है हैकिंग से संबंधित सारी जानकारी तो चलिए शुरू करते हैं आज का टॉपिक। 




दोस्तों आज हम बात कर रहे हैं और Tor Browser की। जी हाँ हैकरों का ब्राउज़र , और हम ऐसा क्यों कह रहे हैं जानेंगे इस पोस्ट में। ये Tor Browser क्या होता है ? क्या हमें Tor Browser यूज़ करना चाहिए ? इसके क्या फायदे एवं नुकसान है ? Tor Browser का फुल फॉर्म होता है और the onion router । जैसे एक Onion(प्याज़) मे बहुत सारी layers मिलती है बिलकुल वैसे ही Tor Browser भी उसी तरह काम करता है, यानी onion के layers के जैसा ही ये IP की लेयर बनाता है जिससे आपकी IP hide हो जाती है। 


अपनी पहचान छुपाने के लिए सबसे ज्यादा यूज होने वाला Browser है । इस ब्राउजर का इस्तेमाल दुनिया के कुछ देशों को छोड़कर बाकी सभी जगह होता है और यह इंडिया में पूरी तरह लीगल है , मतलब इसका इस्तेमाल बिना किसी ऱोक टोक के कर सकते हैं। लेकिन इस ब्राउज़र में ऐसा क्या खास है क्या वजह है जिससे इस में रोक लगाई जा सकती है ? आखिर यह इतना फेमस क्यों है ? तो चलिए जानते हैं इसके बारे में थोड़ा विस्तार से या कैसे काम करता है।

Tor Browser यूज़ क्यूँ होता है ?
दोस्तों tor का इस्तेमाल वही लोग करते हैं जिन्हे अपनी ऑनलाइन पहचान छिपाने की जरूरत पड़ती है , या फिर वैसे लोग जो अपनी privacy को लेकर जयादा फ़िक्र करते हैं। और हाँ , आज की इंटरनेट दुनिआ में जहाँ ऑनलाइन क्राइम बढ़ रहे है , अपनी पहचान छिपाना शायद जरूरी भी है। क्यों की बहुत वेबसाइट आपसे बिना परमिशन मांगे आपके व्यक्तिगत जानकारियाँ जमा करती रहती हैं। 

आप ऑनलाइन कुछ भी करें आपकी प्राइवेसी सेव रहती है। डीप वेब या डार्क वेब को यूज़ या विजिट करने में भी इसी Browser का इस्तेमाल होता है। 

Tor Browser कैसे काम करता है ?
Tor Browser दूसरे किसी ब्राउज़र जैसे firefox/chrome से अलग है। इसका मुख्य काम होता है यूजर के पर्सनल IP को हाइड करना जिससे कि यूजर क्या कर रहा है यह ट्रैक न हो सके। जैसा कि आप जानते हैं IP का मतलब इंटरनेट प्रोटोकॉल होता है, जिससे यह पता लगाया जा सकता है कि आप कौन सा लैपटॉप मोबाइल यूज कर रहे है, आपकी OS कौन सी है, आपका लोकेशन क्या है। और इसी वजह हैकरों लिए ये सबसे अच्छा ब्राउज़र माना जाता है। 
यह आपकी IP को लगातार switch करता रहता है , और ip के आगे एक चेन सा बना देता है जिससे आपको कभी usa uk जैसे country का IP मिलता रहता है। और आप का वास्तविक IP दूसरे IP से ढका होता है जिससे आपको ट्रेस करना बहुत मुश्किल हो जाता है।

क्या इसे यूज करना चाहिए ?
हाँ , मै recommend करता हूँ , लेकिन दोस्तों यह डिपेंड करता है आपके ऊपर कि आप ऑनलाइन क्या करते हैं। अगर आप कुछ गलत काम करते हैं (जो कि नहीं करना चाहिए) जैसे है हैकिंग ,तो आपको अपनी पहचान छुपानी पड़ती है या फिर अगर आप चाहते हैं कि मेरी प्राइवेसी छिपी रहे तो भी आप इसका यूज कर सकते हैं। 

Tor Browser को कैसे यूज़ करें ?
इसे इस्तेमाल करने के लिए सबसे आप पहले अपने ब्राउज़र पे जाएँ और search करें tor डाउनलोड। 

अब आपको जो सबसे पहले वेबसाइट मिलेगा उससे डाउनलोड कर लें। अब आप इसे इनस्टॉल करके डायरेक्ट ही यूज़ कर सकते हैं। 

नोट : Tor को ओपन करने के बाद इसके बॉक्साइट को मैक्सिमाइज़ ना करें मतलब आप इसके विंडो साइज को बड़ा ना करें क्योंकि इससे आपकी प्राइवेसी कम रह जाती है। 
Shubham Sitanshu
Shubham Sitanshu

2 comments:

  1. Very nice and informational article.

    ReplyDelete