VPN kya hai in Hindi
हेलो फ्रेंड्स ,आज के इस पोस्ट में हम VPN के बारे में जानेंगे की VPN क्या होता है ? VPN को कैसे यूज़ किया जाता है ? आगे बढ़ने से पहले मै बता दूँ की यहाँ पे आपको एथिकल हैकिंग से रिलेटेड सारे टॉपिक हिंदी में मिलते रहेंगे। आज का पोस्ट basic hacking का पार्ट है ,आज ऑनलाइन दुनिआ में VPN का इस्तेमाल बहोत ज्यादा हो रहा तो इसलिए इसकी जानकारी होना जरूरी है। हम इस पोस्ट में VPN के बारे में detail में जानेंगे।

VPN क्या है ?

VPN का फुल फॉर्म होता है virtual private network . VPN का main use Banks ,बड़ी कंपनी और सभी तरह के gov sector में किया जाता है। वैसे आजकल बहुत से लोग VPN use करते हैं लेकिन उन्हें ये नहीं पता होता की इसके फायदे और नुकसान क्या है। तो चलिए जानते हैं VPN के बारे में।


जब हम internet से कनेक्ट होते हैं तब हमारा जो भी ISP (internet service provider )होता है वो हमे उसी country का IP दे देता है। अब जब हम इस IP से कनेक्ट होकर online जो भी काम करेंगे उसका पता ISP/Government कर सकती है, मतलब वो हमे trace कर सकती है। ऐसे हम हम अपनी प्राइवेसी को सेफ रखने के लिए भी VPN का इस्तेमाल करते हैं। जब हम VPN से कनेक्ट होते हैं तब हमे एक नया IP मिलता है और हमरी रियल IP hide हो जाती है।

Vpn_in_hindi


VPN कैसे काम करता है ?

दोस्तों ,अगर हम VPN की बात करें तो VPN एक tunnel की तरह काम करता है जिससे गुजरने वाले data पूरी तरह से encrypted होते हैं। हम किसी वेबसाइट को ओपन करते है या फिर इनफार्मेशन शेयर करते हैं तो हमारा ISP या फिर कोई हैकर चाहे तो sniffing कर सकता है मतलब मेरे और वेबसाइट के बीच share होने वाले डाटा तो चुरा सकता है। ठीक इसी तरह जब बैंक internet से कनेक्ट होकर एक दूसरे को डाटा ट्रांसफर करते है भी उन्हें sniffing का खतरा बना रहता है। तो ऐसे condition में VPN काफी अच्छा ऑप्शन है ,जैसे ही VPN connect होता है तो एक नई IP मिलती है और user और website के बीच एक tunnel create हो जाता है। अब जो भी data share होता है वो उसी tunnel से होकर गुज़रता है ,और data encrypted हो जाता है। तो इस तरह VPN का यूज़ sniffing/hacking से बचने के लिए किया जाता है। 

“”हम आने वाले पोस्ट में जानेंगे की sniffing कैसे की जाती है। हम एक open wifi network create करेंगे और जब उससे users जुड़ जायेंगे तो हम उन्हें sniff करके ये देख पाएंगे की वो कौन से वेबसाइट visit कर रहे हैं और साथ ही अगर वो कुछ इनफार्मेशन जैसे username ,email id etc ऑनलाइन fill करेंगे तो वो भी जान पाएंगे। Network Sniffing एक important और मज़ेदार चैप्टर है जिसे हम आगे detail में जानेंगे। “” 

READ IT – WhatsApp hack kaise kare in Hindi

VPN use करने के फ़ायदे और नुकसान –

VPN यूज़ करने के फायदे और नुकसान दोनों ही है ,अगर हम फायदे की बात करें तो हमारी identity छिपी रहती है साथ ही हमारा डाटा encrypted होता जिससे प्राइवेसी safe रहती है। साथ ही ,अगर कोई website /video/content किसी specific country में block हो तो VPN का इस्तेमाल करके उसे access किया जा सकता है। जैसे अगर कोई video /website Indian gov. ने बैन कर रखी है लेकिन बाकि दूसरी country उसे access कर पा रहे हैं तो हम VPN की मदद से दूसरी country का IP से कनेक्ट होकर use कर पाएंगे। 
अगर नुकसान की बात करें तो हम जिस कंपनी से VPN लेते हैं वो चाहे तो पर्सनल इनफार्मेशन share कर सकता है। आज market में बहोत से free VPN available हैं , लेकिन इनका कोई भरोसा नहीं है। इसलिए हमे एक trusted VPN का ही इस्तेमाल करना चाहिए। 

VPN कैसे use करें ?

आज ऑनलाइन mobile और pc दोनों के लिए ही बहुत से VPN available हैं। कुछ free है तो कुछ paid . paid वाले VPN में आपको अनलिमिटेड बैंडविड्थ मिलता है और ज्यादा speed भी। 
इन्हे use करना बहुत आसान है ,बस आपको इन्हे Download करना है open करना है। ओपन करते ही आपको बहुत से country का option मिलता है ,इनमे से किसी को भी select करना है और VPN कनेक्ट हो जाता है। 
अगर फ्री VPN की बात करें तो मोबाइल के लिए आप Turbo VPN को play store से download करके use कर सकते हैं।  

News Reporter

3 thoughts on “VPN kya hai in Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *